............................................................................................................................................................................................................................................. चाणक्य प्लेस- साझा मं में आपका स्वागत है। आप चाणक्य प्लेस के समाचार, जानकारी, अपने आसपास और संस्थाओं की गतिविधियां, परेशानियां, शिकायतें, सुझाव, सन्देश, मुफ़्त वर्गीकृत विज्ञापन आदि प्रकाशन हेतु अपने नाम सहित हमें भेजिए| हमारा ई-मेल है: चाणक्य प्लेस

Wednesday, May 6, 2015

सवाल

साई भक्तों से कुछ सवाल
1. क्या साई ने भगवान श्री राम की तरह राक्षसों का नाश किया ?
2. क्या साई ने भगवान श्री कृष्ण की तरह इस संसार को गीता का ज्ञान दिया ?
3. क्या साई ने भगवान शिव की तरह विषपान कर इस विश्व की रक्षा की ?
4. क्या साई ने किसी ग्रन्थ या महाकाव्य की रचना की ?
5. क्या साई ने श्रवण कुमार की तरह अपने माता पिता की सेवा की ?
6. क्या साई चैतन्य महाप्रभु की तरह हिन्दुओं के किसी भगवान का भक्त था ?
7. क्या साई ने गुरु गोविंद सिंह जी की तरह मुसलमानों से लोहा ले हिन्दू धर्म की रक्षा की ?
8. क्या साई ने छत्रपति शिवाजी महाराज की तरह मुसलमानों से लोहा ले हिन्दू धर्म की रक्षा की ?
9. क्या साई ने महाराणा प्रताप की तरह मुस्लिम आक्रांताओ से लोहा लेकर मातृभूमि की रक्षा की ?
10. क्या साई ने शहीद भगतसिंह, चन्द्रशेखर आजाद, सुखदेव, राजगुरु आदि क्रांतिकारियों की तरह आजादी की लड़ाई मे अपना योगदान दिया?
11. गायत्री मंत्र भी साईं के नाम पर और राम के नाम के आगे भी साईं लगाते हैं जब तुम्हारे साईं अकेले कल्याण करने में समर्थ हैं तो उसे "भगवान राम" की जरूरत क्यों है?
12. वेद मंत्रों में साई को स्थापित किए जाने के लिए क्यों हेर-फेर किया जा रहा है?
13. साई के नाम पर हिन्दू धर्म को भ्रमित और विकृत क्यों किया जा रहा है?
14. एक जिहादी साई को शिव और विष्णु की तरह हिन्दू देवताओं के रूप में चित्रित किया जाना क्या हिन्दू धर्म का अपमान नहीं है?

15. इससे हम करोड़ों हिन्दुओं की धार्मिक भावनाएं आहत हो रही हैं, उस पर साईं भक्त क्या कहना चाहेंगे?
16. क्या साई भगवान राम से भी बड़ा हो गया है?
17. उन्हें ब्रह्मांड नायक क्यों बनाया गया क्या उन्होंने ब्रह्मांड की रचना की है?
18. क्या वह राजाधिराज था?
19. वह परब्रह्म था?
20. क्या वह सच्चिदानंद था?
21. क्या आप ऐसा लिख सकते हो कि " साई अल्लाह " था, अगर नहीं तो फिर उसे 'परब्रह्म' लिखने का अधिकार आपको किसने दिया?
22. मंदिरों में साई की मूर्तियां क्यों लगाई जा रही हैं?
23. हिन्दू धर्म के देवी-देवताओं की मूर्तियां क्यों छोटी होती जा रही हैं और साई की मूर्ति बड़ी?
24. हिन्दू मंदिरों में जान-बूझकर जो साई बाबा की मूर्ति स्थापित की जा रही है क्या वह उचित है?
25. साई का चित्र पहले शिव के साथ जोड़कर दिखाया जाता था, आजकल राम और हनुमान के साथ जोड़कर दिखाया जाता है, क्या यह षड्यंत्र या मनमानी हरकत नहीं है?
26. साई के नाम पर मनमाने मंदिर, आरती, चालीसा और तमाम तरह के कर्म कांड निर्मित कर लिए गए हैं, क्या यह उचित है?
27. क्या साई बाबा की तुलना राम-कृष्ण से करना सनातन धर्म का अपमान नहीं है?
28. पहले साई को दत्तात्रेय का अवतार बताया गया, फिर विरोध होने पर कबीर का, फिर नामदेव, पांडुरंग, अक्कलकोट का महाराज, क्यों?

29. अंत में शिव का अवतार इसलिए घोषित किया गया, क्योंकि शिवजी को भी चित्रों में चिलम पीते हुए दर्शाया गया है?
30. उसके बाद तो साई सभी देवी-देवताओं के अवतार होने लगा क्यों?
31. अब उन्हें रामावतार बताया जा रहा है क्यों?
32. क्या " सबका मालिक एक " सूत्र चाँद साई ने दिया था?
33. क्या " श्रद्धा और सबुरी " सूत्र चाँद साई ने दिया था?
34. क्या चाँद साई के नाम के आगे ॐ लगाना उचित है?
35. क्या साई संसार का स्वामी है?
36. उसे मोहम्मद का अवतार क्यों नही बताया जाता, जबकि उसे हिन्दू मुस्लिम एकता के प्रतीक के रूप में प्रदर्शित किया जाता है?
37. उसे अल्लाह का अवतार क्यों नही बताया जाता?
38. चाँद साई को जीजस का अवतार क्यों नही बताया जाता?
क्या इसका कोई ठोस जवाब है कि उन्हें भगवान बनाने के लिए हिन्दुओं के अवतारों का ही सहारा क्यों लिया जा रहा है?

अगर इन सवालों के जबाब नहीं हैं तो 
साई भक्त खुद ही सोच लें कि वे किस लायक हैं ।
जय श्री राम! धर्म की जय हो अधर्म का नाश हो ।
सौजन्य: अनिल ठाकुर विद्रोही

No comments:

योग

चाणक्य प्लेस में पढ़िए

चिट्ठा सूची